इराक़ : “बैतुल मक़दिस मुसलमानों का था और उन्हीं का रहेगा” – मुक़तदा सद्र, शिया धर्मगुरू

0
13


बगदाद। इराक़ के जाने माने शिया धर्मगुरू और सद्र आंदोलन के नेता मुक़तदा सद्र ने एक ट्वीट में अमेरिकी राष्ट्रपति को फटकार लगाई है, उन्होंने लिखा है कि किसी साम्राज्यवादी ताकत के यह कह देने से कि बैतुल मुक़द्दस किसी और का है तो वह उसकी भूल ही है। उन्होंने कहा कि बैतुल मुक़द्दस मुसलमानों का था और मुसलमानों का ही रहेगा।

मीडिया में कयास लगाए जा रहे हैं कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बुधवार को होने वाले अपने भाषण में बैतुल मुक़द्दस को यहूदियों की राजधानी के रूप में घोषित कर सकते हैं, जिसे लेकर इराक़ के शिया धर्मगुरू मुक़्तदा सद्र ने अमेरिकी राष्ट्रपति को खरी-खरी सनाई है।

उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को संबोधित करते हुए कहा कि आपके विचारों की कोई हैसियत नहीं है और आपकी ताक़त भी बहुत सीमित है, उन्होंने कहा कि हमें आपके तुच्छ विचारों की कोई ज़रूरत नहीं, बैतुल मुक़द्दस हमारा था और हमारा ही रहेगा।


Facebook Comments

NO COMMENTS