काबुली राशिद खान की महानता : “मैन ऑफ दी मैच को बम धमाके में मारे गए लोगों को समर्पित किया”

0
13


नई दिल्ली। कोलकत्ता नाईट राइडर्स को सेमीफ़ाइनल में हराकर हैदराबाद सनराइज़र्स फाइनल में पहुँच गई है, उसको ये स्थान दिलाने वाला सिर्फ और सिर्फ अफगानिस्तान का गेंदबाज राशिद खान है। राशिद ने पहले बल्ले के जोहर दिखाते हुए राशिद 10 बॉल में 34 रन बनाये तथा ऐसी ही शानदार गेंदबाज़ी और फिलिडिंग भी करी।

जिसके बाद राशिद को मैन ऑफ द मैच पुरुस्कार दिया गया, राशिद खान ने मैच खत्म होने के बाद जो किया, उसने दिल जीत लिया। मुहावरे वाला दिल जीतना नहीं, सच्ची वाला. उन्होंने अपनी मैन ऑफ द मैच ट्रोफी 22 मई को अफगानिस्तान में अलग-अलग जगह हुए बम धमाकों में मारे गए 32 लोगों को समर्पित कर दी।

22 मई को कंधार में दो कंटेनरों में रखे बम तब फट गए थे, जब उन्हें डिफ्यूज़ करने की कोशिश चल रही थी। इसी दिन एक और जगह अफगानिस्तान के ही गज़नी प्रांत में एकसाथ कई पुलिस चेकपोस्ट्स पर तालिबान ने हमला किया। एक जगह तो 21 मई को हुआ हमला 22 मई तक चलता रहा था. 22 मई को कुल 32 लोगों की मौत की पुष्टि हुई। 22 तारीख को ही राशिद एक मैच भी खेल रहे थे. उस दिन सनराइज़र्स हैदराबाद का मैच चेन्नई सूपरकिंग्स के साथ था,तब चेन्नई की टीम जीत गई थी।

सनराइज़र्स की इनिंग्स में एक समय ऐसा था जब कार्लोस ब्रेथवेट और यूसुफ़ पठान क्रीज़ पर थे। कोलकाता का मस्तक घूमा हुआ था क्यूंकि ये दोनों विस्फ़ोट करने लगें तो चीथड़े भी न मिलें। लेकिन फिर पहले ब्रेथवेट रन-आउट हुए और फिर यूसुफ़ पठान गेंद कोक उठा के मारने के चक्कर में कैच आउट हो गए। रन 140 भी नहीं बने थे और 2 ओवर से भी कम गेंदें बचीं थीं. लेकिन फिर आए राशिद खान और उन्होंने बल्ला चलाना शुरू किया। क्लीन हिटिंग की और कोलकाता की टीम की रात काली करने का पूरा जुगाड़ कर दिया। आख़िरी ओवर में 24 रन आए।

राशिद ने 10 बॉल खेलीं और 34 रन ठोंक दिए। 4 छक्के और 2 चौके.सनराइज़र्स का स्कोर पहुंचा 174

इतना करके राशिद ने ‘बस’ नहीं कहा, खतरनाक फील्डिंग की और 2 कैच पकड़े, एक को रनआउट भी किया। कोलकाता की टीम 160 रन ही बना पाई। कह सकते हैं कि राशिद के चलते सनराइज़र्स को आखिरी ओवर में जो 24 रन मिले थे, उन्हीं में से 14 ने उन्हें जिता दिया।


Facebook Comments

NO COMMENTS