क्रूड से टैक्स देते-देते थोक दर से दोगुना हो जाता है पेट्रोल-डीजल का दाम, फिर भी होती है एथेनॉल की मिलावट

0
3


पेट्रोल और डीजल के महंगे दामों के पीछे उन पर लगने वाले भारी भरकम टैक्स के होने की बात तो आप सभी ने सुनी होगी। लेकिन टैक्स का ये बोझ इस कदर है कि रिफाइनरी से निकलते समय तय होने वाली पेट्रोल-डीजल की थोक दर उसका टैंकर पंप तक पहुंचने के दौरान टैक्स के बोझ से दोगुनी हो जाती है।

क्रूड आयल से पंप तक का कुछ ऐसा होता है सफर
80 डॉलर यानी करीब 5729 रुपये प्रति बैरल रहा बृहस्पतिवार को क्रूड ऑयल का दाम। 36.03 रुपये प्रति लीटर बैठा 159 लीटर के बराबर वाले एक बैरल क्रूड ऑयल का दाम। 3.45 रुपये पेट्रोल व 7.14 रुपये प्रति लीटर डीजल को क्रूड ऑयल से निकालने पर आता है खर्च। 39.48 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल व 43.13 रुपये प्रति लीटर डीजल के लिए बैठा इस तरह से बेसिक खर्च। 40.49 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल व 44.32 रुपये प्रति लीटर डीजल का दाम रहा बृहस्पतिवार को रिफाइनरी गेट पर

ऐसे तय होता है तेल का दाम
रिफाइनरी गेट से निकलने के बाद तेल के दाम में जुड़ते हैं डीलर कमीशन, वैट और केंद्र-राज्य के टैक्स। 3.34 रुपये का कमीशन मिलता है पेट्रोल पंप मालिक को एक लीटर पेट्रोल के लिए। 2.52 रुपये प्रति लीटर हो जाता है यही कमीशन डीजल की बिक्री के लिए। 19.48 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल व 15.33 रुपये प्रति लीटर डीजल के लिए उत्पाद कर वसूलती है केंद्र सरकार। 62.30 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल व 60.98 रुपये प्रति लीटर डीजल हो जाता है इस प्रक्रिया तक दाम।

इतने पैसे के बाद भी मिलता है मिलावट हुआ पेट्रोल
10 फीसदी हिस्सेदारी प्रति लीटर पेट्रोल में एथेनॉल की भी होती है। 30 लीटर क्षमता वाले कार के पेट्रोल टैंक में 27 लीटर पेट्रोल व 3 लीटर एथेनॉल होता है। 47.5 रुपये प्रति लीटर था बुधवार को 25 फीसदी इजाफे से पहले तक एथेनॉल का दाम। 142.5 रुपये का एथेनॉल और 2187 रुपये का पेट्रोल बैठता है इस हिसाब से टैंक में। 2329.5 रुपये ही वसूले जाने चाहिए इस 30 लीटर के टैंक को पूरा भरने के लिए। लेकिन 2430 रुपये वसूले गए इस टैंक को भरने के लिए पेट्रोल के 81 रुपये प्रति लीटर दाम के हिसाब से बृहस्पतिवार को


Facebook Comments

NO COMMENTS