डॉ.ज़ाकिर नाईक ने ED से सवालों की लिस्ट भेजने को कहा और भारत आने से इंकार किया

0
97

ईडी ने पिछले दिनों ज़ाकिर नाइक के सहयोगी आमिर गजदार को प्रिवेंशन ऑफ़ मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत गिरफ्तार कर लिया। आमिर पर ज़ाकिर नाइक के वित्तीय लेनदेन का काम देखने का आरोप है।

इस्लामिक उपदेशक डॉ.ज़ाकिर नाईक ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) के समन के जवाब में एक और पत्र लिखकर कहा है कि एजेंसी उसे प्रश्नावली भेज सकती है क्योंकि व्यक्तिगत रूप से पेश होने पर उसे बेवजह गिरफ्तार किया जा सकता है। डॉ.ज़ाकिर नाईक ने अपने वकील महेश मुले के जरिये पत्र लिखकर कहा है, ‘‘आमिर गजदार (डॉ.ज़ाकिर नाईक के विश्वासपात्र) की गिरफ्तारी से जांच को लेकर हमारी आशंका और मजबूत हुई है और हमें आशंका है कि व्यक्तिगत रूप से पेश होने पर हमारे मुवक्किल के साथ भी ऐसा ही हो सकता है।’’

डॉ.ज़ाकिर नाईक ने कहा है कि एजेंसी उसको प्रश्नावली (Questionnaire) भेज सकती है, जिसका वह जवाब देंगे। डॉ.ज़ाकिर नाईक ने कहा कि उसके अनिवासी भारतीय होने के बावजूद प्रवर्तन निदेशालय ने अदालत से कहा कि वे जांच में शामिल नहीं हो रहे हैं और जांच को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है। सम्मन के जवाब में इस सप्ताह की शुरूआत में डॉ.ज़ाकिर नाईक ने कहा था कि वह किसी भी इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से बयान दर्ज कराने को तैयार है। ईडी ने डॉ.ज़ाकिर नाईक को सम्मन जारी कर इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के वित्तीय लेनदेन के संबंध में बयान देने के लिए 9 फरवरी को हाजिर होने को कहा था।

डॉ.ज़ाकिर नाईक का कहना था कि वो अनिवासी भारतीय हैं और पिछले कई महीने से विदेश में हैं और ईडी के सामने व्यक्तिगत रूप से हाजिर होने के लिए और भी कई महीने लग सकते हैं, इसलिए वो वीडियो लिंक के जरिये जांच में सहयोग करने को तैयार हैं।

ईडी ने पिछले दिनों डॉ.ज़ाकिर नाईक के सहयोगी आमिर गजदार को प्रिवेंशन ऑफ़ मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत गिरफ्तार कर लिया। आमिर पर डॉ.ज़ाकिर नाईक के वित्तीय लेनदेन का काम देखने का आरोप है। आमिर को पीएमएलए की विशेष अदालत ने 22 फरवरी तक के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया है।

गौरतलब है कि डॉ.ज़ाकिर नाईक व उसकी एनजीओ इस्लामी रिसर्च फाउंडेशन (IRF) पर मनी लॉन्ड्रिंग का केस चल रहा है। केंद्र सरकार ने ज़ाकिर की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को प्रतिबंधित कर दिया है और उनके खिलाफ मामला भी दर्ज हो चुका है।


 

Facebook Comments

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY