“तुम मुस्लिमों को हज से नहीं रोक सकते क्योंकि वह हज को अपनी ज़िन्दगी का आखरी सफर मान कर निकलते हैं” – अंजलि शर्मा

0
121


पहली बात कुछ चुनिया पहनने वाले धमकिया दे रहे हे कि ‘मुसलमानो को हज नहीं करने देंगे।’

अमरनाथ यात्रा में हमला पाकिस्तानी आतंकवादियो ने किया, इनकी मर्दानगी….. वहाँ नहीं चलती………।

भगवा गमछा पाकिस्तान के सामने दुपट्टे की तरह गले से सर पे आ जाता हे………।

और भारतीय मुसलमानो के सामने ये मर्द बनने की कोशिश करते हे……….।

वेसे ही जेसे कुत्ते अपने इलाके में भोंकते हे…………………………।

………………..और बाहर भीगी बिल्ली बन जाते हे……………..।

हिम्मत हे तो पाकिस्तानी आतंकवादियो को मारो………………………………..।

में तो कहती हु………… ढूंढ ढूंढ के……….. घसीट घसीट के………… बाहर निकाल के दर्द नाक मौत दो…..।

मगर सच्चे देश भक्त हिन्दुस्तान के मुसलमानो को परेशान मत करो………………।

………..और हज से तुम रोक नहीं पाओगे………………….।

जिस मुसलमान का हज का इरादा हो गया…………………।

और वो किसी मुसीबत की वजह से मक्का तक नहीं पहुँच पाया उसका हज बिना गए ही कबूल हो जाता हे……..।

दूसरी बात तुम धमकिया उन्हें दे रहे हो…… जो घर वालो से अलविदा कह कर दुआ करते निकलते हे……. अल्लाह हज के इस सफ़र में……. मौत अता फरमा………………….।

जन्नत के बदले इससे सस्ता सौदा और क्या होगा…………..?

ज़िन्दगी को देके………….. जन्नत पाने के सौदे को सस्ता समझने वालो को तुम धमकिया दे रहे हो………..।

लगता हे आगरा के मेन्टल हॉस्पिटल से बिना इलाज के भाग के आये हो………….।


-अंजली शर्मा

अंजलि शर्मा

(अंजली शर्मा सोशल मीडिया पर विभिन्न सामाजिक और राजनीतिक मुद्दों पर अपनी बेबाक लेखनी के लिए जानी जाती हैं। अंजलि शर्मा निस्पक्ष लेखन, सामाजिक कार्यकर्ता एवं स्वतन्त्र लेखक हैं। अंजली शर्मा फेसबुक यूजर हैं और उन्होंने अपने फेसबुक इंट्रो में लिखा है ‘मानवता ही मेरा धर्म हे’। यह लेख उनकी फेसबुक की टाइम लाइन से लिया गया है। इस लेख के विचार पूर्णत: उनके हैं, इस लेख को लेकर अथवा इससे असहमति के विचारों का भी myzavia.com स्‍वागत करता है। इस लेख से जुड़े सभी दावे या आपत्ति के लिए सिर्फ लेखक ही जिम्मेदार है। ब्‍लॉग पोस्‍ट के साथ अपना संक्षिप्‍त परिचय और फोटो भी myzavia.com@gmail.com भेजें।)


 

 

Facebook Comments

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY