“ना खाउंगा ना खाने देंगे नारे वाली भाजपा सरकार, सत्ता की भूखी है, हर भ्रष्टाचारी को शामिल कर रही है” – राजदीप सरदेसाई

0
6


राजदीप सरदेसाई ने पूर्व कांग्रेसी और भ्रष्टाचार के आरोप की वजह से एक वक्त चर्चा में आए सुखराम के बीजेपी में शामिल होने पर भी सवाल करते हुए लिखा कि बीजेपी हर किसी का स्वागत कर रही है जो पार्टी में शामिल होना चाहता है।

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार और इंडिया टुडे के कंसल्टिंग एडिटर राजदीप सरदेसाई ने पीएम मोदी के नारे ‘ना खाउंगा ना खाने दूंगा’ नारे के साथ भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भाजपा पर कटाक्ष किए हैं। दरअसल हाल ही में टीएमसी के संस्थापक सदस्य मुकुल रॉय भाजपा में शामिल हो चुके हैं। राजदीप ने आरोपी नेताओं के भारतीय बीजेपी में शामिल होने को लेकर सवाल किया है।

अंग्रेजी समाचार वेबसाइट हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित अपने लेख में राजदीप ने टीएमसी के मुकुल रॉय के बीजेपी में शामिल होने को लेकर पूछा है कि “भ्रष्टाचार के मुद्दे पर बीजेपी के अलग पार्टी होने के दावे को क्या इससे गहरा धक्का नहीं लगा है?”

राजदीप ने लिखा, ”जिस नारायण राणे को एक समय भ्रष्टाचार का प्रतिनिधि चेहरा बताती थी आज वो उसमें शामिल होने की कगार पर हैं। राणे का महाराष्ट्र के कोंकण पट्टी में अच्छा खासा दखल है लेकिन अब वो काफी कम होता जा रहा है।”

राजदीप ने पूर्व कांग्रेसी और भ्रष्टाचार के आरोप की वजह से एक वक्त चर्चा में आए सुखराम के बीजेपी में शामिल होने पर भी सवाल करते हुए लिखा कि बीजेपी हर किसी का स्वागत कर रही है जो पार्टी में शामिल होना चाहता है।

राजदीप ने लिखा है, “बीजेपी ने राजनीतिक गठजोड़ के लिए ज्यादा व्यावहारिक रास्ता चुना है। निर्विवाद सत्ता की अपनी भूख में बीजेपी अपने राजनीतिक विस्तार की राह में किसी भी नैतिक बाधा को नहीं आने देना चाहती। चाहे वो पूर्वोत्तर हो जहां बीजेपी ने पार्टियां तोड़कर सरकार बनाने में गुरेज नहीं किया या गोवा जहां पार्टी ने चुनाव में दूसरे नंबर पर आने के बावजूद रातों रात गठबंधन करके सरकार बना ली या तमिलनाडु जहां पार्टी सभी राजनीतिक विकल्प खुले रखे हुए है, संदेश साफ है कि बीजेपी राष्ट्रीय राजनीति में अपने रसूख का इस्तेमाल सत्ता पाने में करने से हिचकिचाएगी नहीं।”

राजदीप ने लिखा है कि बीजेपी का कांग्रेसीकरण होता जा रहा है और इस वजह से उसके वैचारिक जनाधार के खिसकने की आशंका है। राजदीप ने नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली बीजेपी की तुलना इंदिरा गांधी के नेतृत्व वाली कांग्रेस से की है।


Facebook Comments

NO COMMENTS