निपाह वायरस के कारण मृतकों की संख्या पहुंची 11

0
4

केरल में निपाह वायरस ने आज दो और लोगों की जान ले ली है। इनका इलाज कोझीकोड के मेडिकल कॉलेज में चल रहा था। इस बीमारी के इलाज के लिए बने अलग वार्ड में दोनों को रखा गया था। इस बीमारी के चलते अब तक 11 लोगों की जान चुकी है। पिछले दो हफ़्तों में केरल के कोझिकोड ज़िले में इस वायरस से कम से 9 लोगों की मौत हो चुकी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए केरल सरकार अलर्ट हो गई है। वहां के स्वास्थ्य मंत्री ने स्वास्थ्य विभाग के बड़े अधिकारियों के साथ बैठक की है। बैठक के बाद उन्होंने बताया कि इस वारयस के बारे में जानकारी जुटाने के लिए इससे पीड़ित लोगों के खून के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं।

वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने एक कमेटी बनाई है जो बीमारी की तह तक जाने में जुटी है। साथ ही इस वायरस की जद में आने से लोगों को बचाने के लिए एहतियाती उपाय भी किए जा रहे हैं। लोकसभा सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने विषाणु के प्रकोप को रोकने के लिए केंद्र की मदद मांगी है। उन्होंने कहा कि यह एक ‘‘ घातक एवं दुर्लभ ’’ विषाणु है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा को लिखे पत्र में रामचंद्रन ने कहा कि उनके लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र वताकरा में कुट्टियाडी तथा पेरम्ब्रा सहित कुछ पंचायत क्षेत्र ‘‘घातक विषाणु’’ की चपेट में हैं।


Facebook Comments

NO COMMENTS