“पीएम क्यों नहीं कहते ना खरीदूंगा और ना खरीदने दूंगा”, कांग्रेस ने जारी किए भाजपा नेताओं के ऑडियो

0
9

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के लिए आज करो या मरो वाली स्थिति बनी हुई है। क्योंकि उनके पास विधायकों की संख्या 104 है जबकि बहुमत साबित करने के लिए 8 और विधायकों के समर्थन की जरूरत है। कांग्रेस और जेडीएस ने भाजपा पर अपने विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का आरोप लगाया है।

जिस समय कर्नाटक में विधायक शपथ ले रहे थे उस समय दिल्ली में कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी और कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बहुमत परीक्षण से पहले ही अपनी नैतिक जीत का दावा कर दिया। कांग्रेसी नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा पूरे प्रकरण का लाइव टेलिकास्ट करने की बात मानने को अपनी नैतिक जीत करार दिया है।

भाजपा के आरोपों का जवाब देते हुए कांग्रेसी नेताओं ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि अगर आप चाहते हैं कि किसी और स्पीकर को बैठाया जाए तो हमें उनको नोटिस देना पड़ेगा। फिर सुनवाई के लिए आगे की तारीख रखनी पड़ेगी।

इन ऑडियो में से एक में येदियुरप्पा कांग्रेस के विधायक बीसी पाटिल को ‘वह जो चाहे वह देने’ की बात करते हुए कोच्ची जाने वाली बस से उतरने के लिए कह रहे हैं। वहीं दूसरे ऑडियो में भाजपा के विजयेंद्र और कांग्रेस विधायक श्रीराम हेब्बर की पत्नी के बीच बातचीत है। जिसमें विजयेंद्र हेब्बर के बेटे पर लगा केस हटवाने, पैसे और मंत्रीपद देने की बात कर रहे हैं।

इन ऑडियो पर कपिल सिब्बल ने कहा, ‘हमें इस बात का दुख है कि पीएम मोदी कहते हैं न खाऊंगा न खाने दूंगा, लेकिन कभी यह नहीं कहते कि ना खरीदूंगा और ना खरीदने दूंगा। हमारे पास बहुमत का आंकड़ा है तो आप ही बताइए कौन तोड़ेगा और किसको तोड़ेगा? और अगर तोड़ेगा तो कैसे तोड़ेगा? हमारी लड़ाई गणतंत्र को बचाने की थी।’


Facebook Comments

NO COMMENTS