“बिहार से दिल्ली जा रही ट्रैन में महिला के साथ बदसलूकी और मारपीट”

0
230

नई दिल्ली। हाल ही में दिल्ली से हरियाणा जा रही ट्रैन एक मुस्लिम युवक की भीड़ द्वारा हत्या का मामला सामने आने के बाद पूरे देश में ईद के मौके पर समुदाय के लोगों द्वारा मोब लिंचिंग का विरोध किया गया था।

ऐसा ही एक ताजा मामला बिहार के सीवान से नई दिल्ली जा रही एसी स्पेशल ट्रेन से आया है। जहाँ लोगों ने महिला यात्री पर हमला कर दिया।

इस दौरान महिला उसकी मदद की गुहार लगाती रही लेकिन वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने भी महिला की कोई मदद नहीं की। पीड़िता का नाम मोनिका शेखर है और बिहार के सीवान जिले की रहने वाली हैं।

इस मामले में महिला ने लखनऊ जीआरपी को दी शिकायत में बताया कि 2 जुलाई की रात वह एसी स्पेशल ट्रेन में पति के साथ सीवान से दिल्ली के लिए रवाना हुईं थीं।

गोरखपुर से गोंडा के बीच कुछ यात्री उनकी सीट पर आकर बैठ गए। जब मोनिका ने उनसे वहां से उठ जाने के लिए कहा तो उन्होंने मोनिका के साथ मारपीट करनी शुरू कर दी।

मोनिका के पति ने ट्रेन में मौजूद स्क्वॉड मदद लेनी चाही तो लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने संबंधित अधिकारियों को हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए।

पीड़ित महिला ने फेसबुक पर अपना दर्द साझा किया। मोनिका ने ट्रेनों में सुरक्षा पर तमाम सवाल खड़े किए। रेलवे और उसकी व्यवस्था को कोसते हुए मोनिका लिखती हैं, ‘भगवान न करें किसी यात्री को इस तरह के दिन देखने पड़े।’

कौन है मोनिका शेखर:
मोनिका शेखर बिहार के सीवान जिले की रहने वाली हैं और उन्होंने जागरण इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड मास कम्युनिकेशन (Jagran Institute Of Management And Mass Communication) मीडिया संस्थान से मॉस कम्युनिकेशन में पीजी डिप्लोमा करने के बाद, उन्होंने पटना की नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी से मास्टर ऑफ जर्नलिज्म किया।

मोनिका ने दैनिक जागरण में 10 साल 4 महीने तक कार्य बाद इस साल मार्च महीने में संस्था को अलविदा कह दिया । अपने करियर की शुरुआत साल 2006 में उन्होंने दैनिक जागरण के लुधियाना एडिशन से बतौर ट्रेनी की थी। साल 2008 में लुधियाना से नोएडा jagran.com में थीं और अप्रैल, 2014 तक वे समूह के डिजिटल विंग में ही रहीं, लेकिन मई, 2014 के बाद उन्होंने एक बार प्रिंट मीडिया की ओर वापसी की और तब से वे दिल्ली/एनसीआर डेस्क पर फरीदाबाद संस्करण देख रहीं थीं।

लंबे समय से दैनिक जागरण से जुड़ी रहने वाली पत्रकार मोनिका शेखर दैनिक भास्कर जॉइन कर लिया । वे वहां बतौर सीनियर सब एडिटर फरीदाबाद डेस्क की जिम्मेदारी संभालेंगी। मिली जानकारी के मुताबिक वे जुलाई में अपनी नई पारी का आगाज करेंगी।

देखिये हमला होने के बाद उन्होंने फेसबुक पर क्या क्या शेयर किया: