बस में लगी आग, आग बुझी तो हर सीट पर थे कंकाल

0
12
प्रतात्मिक चित्र

फायर ब्रिगेड रात करीब डेढ़ बजे मौके पर पहुंची और लगातार कोशिश के बाद दो बजे आग बुझा सकी। दो यात्री तो गेट पर ही जलते सभी को दिख रहे थे। सभी यही दुआ करते रहे कि अंदर ज्यादा लोग न जलें हों लेकिन जब आग बुझी और बस में अंदर देखा गया तो हर सीट पर यात्रियों के कंकाल ही नजर आ रहे थे। देरतक अनुमान तक नहीं लगाया जा सका कि कितने लोग जिंदा जले हैं। माना जा रहा हा है कि इस हादसे में 22 लोगों की मौत हुई है।

पिछली सीट पर दो बच्चों के थे कंकाल, महिलाओं के कंकाल में चूड़ियां रह गई थीं। हृदयविदारक दृश्य देखकर अफसरों तक की आंखें नम हो गईं। करीब 15 लोग किसी तरह बस से निकलकर अपनी जान बचा पाए थे लेकिन उनमें भी दो की हालत गंभीर बनी हुई है। रात में पहचान की कोशिश की जा रही थी लेकिन ऐसा कोई सामान नहीं बचा था जिससे मरने वालों की पहचान की जा सके। झुलसे लोगों से पूछताछ के आधार पर मरने वालों की पहचान की कोशिश पुलिस रात ढाई बजे तक करती रही लेकिन झुलसे लोगों की हालत भी ठीक न होने से पहचान नहीं हो सकी है।

रात करीब दो बजे एसएसपी सीएमओ का फोन मिलाते रहे ताकि टीम को बुलाकर शवों को मोरचरी में भिजवाया जाए लेकिन उनका फोन देर तक नहीं उठा। करीब ढाई बजे उनका फोन उठा तब कहीं टीम भेजने के निर्देश मिले। रात करीब पौने तीन बजे तक मौके पर डाक्टरों की टीम पहुंची है।

यह पता चलने के बाद कि मौके पर सिर्फ कंकाल हैं डीएनए परीक्षण की टीम को सीएमओ ने भेजा। वह टीम भी ढाई बजे के बाद ही पहुंची और कंकालों से कुछ सुबूत जुटाने की कोशिश की।

दरअसल रोडवेज की बस इन्वर्टिस की बस जब बाईपास पर चढ़ी तो रांग साइड से पूरी तरह घूम रही थी तभी अपनी साइड से आ रहा ट्रक रोडवेज बस से टकराया। ट्रक ने जहां टक्कर मारी तो वही फ्यूल टैंक था। माना जा रहा है कि उसके बाद ही फ्यूल टैंक धमाके के साथ फट गया और आग ने विकराल रूप ले लिया।


Facebook Comments

NO COMMENTS