भारत ने जिम्बाब्वे को 9 विकेट से रौंदा, डेब्यू वनडे में लोकेश राहुल ने जड़ा सैकड़ा

0
124

हरारे। भारतीय क्रिकेट टीम ने हरारे स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर खेले गए तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में जिम्बाब्वे को नौ विकेट से हरा दिया। जिम्बाब्वे ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत को 169 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे टीम इंडिया ने 42.3 ओवरों में एक विकेट खोकर हासिल कर मैच अपने नाम किया।

भारत के लिए अपना पहला मैच खेल रहे लोकेश राहुल ने नाबाद 100 रन बनाए। इसके साथ ही वह भारत की तरफ से पदार्पण मैच में सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड रॉबिन उथप्पा के नाम था। राहुल के अलावा अंबाती रायडू ने नाबाद 62 रनों का योगदान दिया।

आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम का इकलौता विकेट सलामी बल्लेबाज करुण नायर (7) के रूप में गिरा। उन्हें टेंडाई चटारा ने 11 के कुल स्कोर पर पैवेलियन भेजा। इसके बाद भारत का कोई विकेट नहीं गिरा और बल्लेबाजों ने मैच अपने नाम किया।

भारतीय तेज गेंदबाजों ने मेजबान जिम्बाब्वे को तीन मैचों की क्रिकेट सीरीज के पहले मैच में सिर्फ 168 रन पर आउट कर दिया। भारत के लिए जसप्रीत बुमराह ने चार तथा बरिंदर सरां और धवल कुलकर्णी ने दो-दो विकेट लिए। सीनियर खिलाड़ियों की गैर-मौजूदगी में युवा टीम भारतीय की अगुवाई कर रहे भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर जिम्बाब्वे को बल्लेबाजी के लिए उतारा। लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल और बल्लेबाज करुण नायर ने भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया, जबकि लोकेश राहुल को पहली बार अंतिम एकादश में मौका दिया गया।

जिम्बाब्वे के बल्लेबाज भारतीय तेज आक्रमण के सामने जूझते नजर आए। आईपीएल में चमके सरां ने पहली गेंद से ही उम्दा प्रदर्शन किया। उन्होंने चामू चिभाभा को पहली गेंद पर ही पगबाधा आउट कर दिया था, लेकिन अंपायर ने बल्लेबाज के पक्ष में फैसला सुनाया। सरां को हालांकि विकेट के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ा।

चिभाभा के सलामी जोड़ीदार पीटर मूर उनकी इनस्विंगर पर पगबाधा आउट हुए। बल्लेबाजों को रन बनाने में काफी दिक्कतें पेश आईं। कुलकर्णी ने अनुभवी हैमिल्टन मसाकाजा को विकेट के पीछे लपकवाया। इस समय जिम्बाब्वे का स्कोर नौवें ओवर में दो विकेट पर 30 रन था।

गेंदबाजी में पहले बदलाव के बाद आए बुमराह ने चिभाभा (13) और वुसी सिबांडा को आउट किया। स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ जिम्बाब्वे टीम सहज लगी, लेकिन भारतीय स्पिनरों ने भी किफायती ओवर डाले। अक्षर पटेल ने क्रेग इरविन को आउट किया। उस समय जिम्बाब्वे का स्कोर 24 ओवर में पांच विकेट पर 77 रन था।

चिगुंबुरा और सिकंदर रजा (23) अगर छठे विकेट के लिए 38 रन नहीं जोड़ते तो जिम्बाब्वे का स्कोर 150 रन के पार नहीं जा पाता। चहल ने वनडे क्रिकेट में पदार्पण के साथ ही उम्दा गेंदबाजी की। उन्हें विकेट के लिए 10वें ओवर तक इंतजार करना पड़ा। उन्होंने दसवें ओवर में रिचमंड मुतुंबामी का विकेट लिया। हरफनमौला चिगुंबुरा दूसरे छोर पर विकेटों का पतन देखते रहे।