“भारत में युवाओं को विवाह करने या विवाह स्थल तय करने से पहले भाजपा से पूछना चाहिए” – रणदीप सुरजेवाला

0
5


कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि युवाओं को विवाह करने या विवाह स्थल तय करने से पहले भाजपा से पूछना चाहिए. एक दिन पहले मध्य प्रदेश के एक विधायक ने क्रिकेटर विराट कोहली और अभिनेत्री अनुष्का शर्मा के भारत में विवाह नहीं करने पर उनकी देशभक्ति पर सवाल उठाया था.

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि युवाओं को विवाह करने या विवाह स्थल तय करने से पहले भाजपा से पूछना चाहिए. उनकी यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब एक दिन पहले मध्य प्रदेश के एक विधायक ने क्रिकेटर विराट कोहली एवं अभिनेत्री अनुष्का शर्मा के भारत में विवाह नहीं करने पर उनकी देशभक्ति पर सवाल उठाया था.


सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘भारत में सभी युवक, युवतियां ध्यान दें. कृपया शादी का फैसला करने, विवाह स्थल तय करने, उत्सव की रूपरेखा तय करने और यहां तक कि व्यंजनों के प्रकार तय करने से पहले भाजपा से अनुमति लें. आपको धन्यवाद. सार्वजनिक हित में जारी.’ विराट-अनुष्का की शादी हाल में इटली में एक निजी समारोह में हुई थी.

गुना से भाजपा विधायक पन्नालाल शाक्य ने एक दिन पहले कहा था, ‘विराट ने भारत में धन कमाया लेकिन उसे देश में विवाह के लिए कोई जगह नहीं मिली. क्या भारत अछूत है?’ शाक्य ने दावा किया, ‘भगवान राम, भगवान कृष्ण, विक्रमादित्य, युधिष्ठिर का विवाह इसी भूमि पर हुआ. आपको भी यहां शादी करनी चाहिए थी. हम में से कोई भी विवाह करने के लिए विदेश नहीं जाता. (कोहली ने) यहां धन कमाया और वहां (इटली में) अरबों खर्च किए. (उनमें) देश के लिए कोई सम्मान नहीं है. इससे साबित होता है कि वह देशभक्त नहीं है.’

इस मामले पर बीजेपी ने पल्ला झाड़ लिया है. बीजेपी प्रवक्ता राहुल कोठारी ने कहा यह पूरी तरह से विराट कोहली का निजी मसला है. इससे पार्टी का कोई लेना देना नहीं है.

बता दें कि मध्य प्रदेश में गुना से बीजेपी विधायक पन्नालाल शाक्य का मानना है कि भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और अभिनेत्री अनुष्का शर्मा देशभक्त नहीं हैं. विधायक जी दोनों से इसलिए ख़फा हैं, क्योंकि दोनों ने शादी भारत में नहीं बल्कि इटली में रचाई है.

गुना में कौशल विकास के एक कार्यक्रम के दौरान शाक्य ने कहा, जिस देश में भगवान राम और कृष्ण का विवाह हुआ है उसे छोड़कर दोनों ने इटली में विवाह संस्कार किया. दोनों पैसे भारत में कमा रहे हैं और शादी करने विदेश जा रहा हैं. इससे यह साफ होता है कि वो राष्ट्रभक्त नहीं हैं.

अपने बयान पर कायम रहते हुए शाक्य ने विराट और हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की तुलना करते हुए कहा कि उन्हें कई विदेशी खिताबों से नवाज़ा गया, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया. साथ ही शाक्य ने यह भी जोड़ा कि विराट भारत के युवाओं के आदर्श नहीं हो सकते. शाक्य ने यह भी कहा कि कोहली देश में इतना कमाते हैं और पैसा कमाकर इटली में नाचने चले गए. ये कैसे देशभक्त हैं? उन्हें देशभक्ति का कोई ज्ञान नहीं है. इटली में अगर तुम शादी कर रहे हो तो देश को क्या दोगे? बात को जरा बारीकी से सोचो, इटली वाले यहां पर आकर अरबपति-करोड़पति हो गए, और तुम इटली में जाकर नाच रहे हो.’

इस मामले पर बीजेपी ने पल्ला झाड़ लिया है. बीजेपी प्रवक्ता राहुल कोठारी ने कहा यह पूरी तरह से विराट कोहली का निजी मसला है. इससे पार्टी का कोई लेना देना नहीं है. हो सकता है उन्होंने सोचा हो कि अगर विराट-अनुष्का की शादी भारत में होती तो यहां के पर्यटन स्थलों की ब्रांडिंग होती. वहीं कांग्रेस के नेता मानक अग्रवाल ने कहा कि विराट अनुष्का को किसी से सर्टिफिकेट लेने की ज़रूरत नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऐसे नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिये.

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और अनुष्का शर्मा ने इटली में टस्कनी के एक मशहूर रिजॉर्ट में शादी की थी. विराट-अनुष्का की शादी का रिसेप्शन दिल्ली में 21 और मुंबई में 26 दिसंबर को हो रहा है.


 

Facebook Comments

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY