मथुरा : “योगी आदित्यनाथ के विधायक व्हाट्सएप्प द्वारा साम्प्रदायिक ज़हर फैला रहे थे, पकड़े जाने पर देने लगे सफाई”

0
10


मथुरा। भाजपा के बल्देव इलाके के विधायक पूरन प्रकाश का एक विवादित मैसेज इन दिनों सुर्ख़ियों में ये मैसेज खुद विधायक के मोबाईल से भेजा गया है इस मैसेज में विधायक ने लिखा है। “हिंदुस्तान में रहना है तो वंदे मातरम कहना है नहीं तो यहां से भाग जाओ”, मथुरा के थाना फरह इलाके के ओल में हुए विवाद पर राजनीति गहराती जा रही है और ऐसे में भला इलाके के विधायक कैसे न अपनी राजनैतिक रोटियां न सके ऐसा तो हो ही नहीं सकता। सोशल मीडिया पर डाले गए एक मैसेज ने इस मुद्दे को और भी विवादित कर दिया है।

ये मैसेज खुद बल्देव इलाके के विधायक पूरन प्रकाश के मोबाईल से कई ग्रुप डाला गया है इस मैसेज में लिखा है “आज माननीय विधायक पूरन प्रकाश जी द्वारा घटना स्थल का निरिक्षण किया गया तथा बलबा करने वाले समुदाय को ललकारा और कहा “हिंदुस्तान में रहना है तो वंदे मातरम कहना है नहीं तो यहां से भाग जाओ”, मौके पर प्रशाशनिक अधिकारी डीएम और एसएसपी को बुलाकर मामले की जल्द से जल्द दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिवाने के निर्देश दिए जिससे इसे दोहराया न जा सके।”

दरअस्ल दो दिन पूर्व फरह थाना इलाके में मामूली विवाद को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए थे और जिसके बाद जमकर बवाल हो गया जिसमे चार लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। जिसके बाद ओल में एक पंचायत आयोजन किया जिसमे प्रशाशनिक, पुलिस के अधिकारी और इलाके के विधायक पूरन प्रकाश भी मौजूद रहे और विधायक ने, पंचायत में विधायक जी मंच से वंदे मातरम के नारे लगाना शुरू कर दिया।

विधायक ने मंच से बोलते हुए कहां यह कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे जैसा आप के साथ भाईचारा है उसके लिए आपका विधायक आपके साथ है लेकिन हिंदुस्तान की बलि दे उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस पर पंचायत में बैठे एक मुस्लिम व्यक्ति ने कहा विधायक जी आपने हौले से कहा है हम जोर से कहते हैं हिंदुस्तान जिंदाबाद।

उसके बाद जब इस मामले पर विधायक पूरन सिंह से बात की गयी और उनसे जब उनके मोबाइल से ग्रुप में डाले गए मैसेज के बारे में पूछा गया तो बड़ी सफाई से अपना बचाव करते हुए उन्होंने कहा हिंदुस्तान में सभी धर्म सभी जाति के लोग रहते हैं लेकिन सभी धर्मों से पहले हम हिंदुस्तानी हैं हम हिंदुस्तान में हैं तो हम हिंदुस्तान जिंदाबाद है जिंदाबाद कहते रहेंगे वंदे मातरम कहते रहेंगे।

विधायक का झूठ:
उन्होंने कहां की बवाल के दौरान एक समुदाय विशेष ने हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए गए थे ऐसा मुझे बताया गया। उनके मोबाइल से द्वारा भेजे गए मैसेज के बारे में पूछा तो विधायक ने कहा मेरा मोबाइल कभी भी मेरे पास नहीं होता मुझे नहीं पता बता मेरा मोबाइल किस के पास है ना तो मुझे WhatsApp आपरेट करना भी नहीं आता है केवल पढ़ लेता हूं।

सवाल खड़ा होता है यदि एक आम आदमी WhatsApp ग्रुप पर कोई भड़काऊ मैसेज डालता है तो उसके खिलाफ पुलिस और प्रशासन कड़ी कार्रवाई करता है लेकिन यहां एक भाजपा के विधायक के मोबाइल से इस तरह का मैसेज डाला गया है उस पर ना तो प्रशासनिक अधिकारी कोई कार्यवाही करते नजर आ रहे हैं और ना ही पुलिस के अधिकार इस पर कुछ बोलने को तैयार है।


Facebook Comments

NO COMMENTS