“मुख्यमंत्री वसुंधरा जी!! भगवा आतंकियों द्वारा एक शख्स को जिंदा जला दिया गया, यह एक देश के बारे में बहुत कुछ कहता है, है कि नहीं???” – बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर

0
309

लव जिहाद के नाम पर मुसलमान को ज़िंदा जलाने पर इस अभिनेत्री ने भाजपा मुख्यमंत्री पर मारा ताना।

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने राजस्थान के उदयपुर में एक अधेड़ शख्स को जिंदा जलाए जाने और उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मणिशंकर अय्यर के बीच बहस को लेकर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा है। स्वरा ने अपने ट्विटर हैंडस से लिखा- भगवा आतंकियों द्वारा लव जिहाद जैसे झूठ के नाम पर एक शख्स को जिंदा जला दिया गया और लोगों में दो राजनेताओं के बीच हुए झगड़े को लेकर ज्यादा गुस्सा है… यह एक देश के बारे में बहुत कुछ कहता है, है कि नहीं??? स्वरा के इस ट्वीट को हजारों लोगों ने लाइक और शेयर किया है।


इसके अलावा एक और ट्वीट इस अभनेत्री ने अपने ट्वीटर अकॉउंट पर किया है जिसमें उन्होंने राजस्थान की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है उन्होंने मुख्यमंत्री वसुंधरा ट्वीटर पर टैग करते हुए लिखा है कि “बड़े ही शर्म की बात है कि आपके लिए और आपकी सरकार के लिए,आपकी इस लिंचिंग की घटना और नफरत की वजह से होने वाले क़त्ल पर खामोशी की वजह से ये सब हुआ है- इसी ट्वीट में राजनाथ सिंह को भी ट्वीट करते हुए लिखा है कि “सर क्या इस तरह की घटनाओं की वजह से लॉ एंड आर्डर पूरी तरह से भँग होता दिखाई नही दे रहा है ?“

गौरतलब है कि हाल ही में राजस्थान के उदयपुर से एक अधेड़ शख्स को पीट-पीट कर अधमरा कर देने और उसके बाद उसे जिंदा जला देने का वीडियो फेसबुक पर वायरल हुआ था। इस वीडियो में हत्यारा शख्स माथे पर भगवा रंग लगाए हुए है और उसने भगवा रंग के कपड़े पहने हुए हैं। वह स्कूटी से आता है और फिर धारदार हथियार से उस शख्स की पीट-पीट कर हत्या कर देता है। इसके बाद वह वीडियो में यह संदेश भी देता है कि भारत के भीतर लव जिहाद करने वाले हर जिहादी का यही हश्र होगा। इस शख्स को गिरफ्तार करके मामला एसआईटी को सौंप दिया गया है।

उधर देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी ‘कांग्रेस’ के नेता मणिशंकर अय्यर ने अपने बयान में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘नीच’ कह डाला। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के तमाम नेता इसके विरोध में उतर आए और समर्थकों ने भी इसका विरोध किया। हालांकि बाद में कांग्रेस ने मणिशंकर के बयान से किनारा कर लिया और उसकी सदस्यता रद्द कर दी।