लालू का ट्विटर तमाचा : “अगर लालू चोर होता तो जेल नहीं बीजेपी में होता”

0
81


बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव इस समय घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी के मामले में साढ़े तीन साल की सज़ा काट रहे है। जेल से पहले लालू अपने विरोधी नितीश कुमार और भाजपा को निशाना बनाते नज़र आये है और अब जेल जाने के बाद भी उनका ये काम बखूबी हो रहे है।

आज लालू के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया गया जिसमे लिखा था, ‘लालू चोर होता तो जेल नहीं बीजेपी में होता।’ लालू के इस ट्वीट में लालू का निशाना उन सभी नेताओं पर है जिन्होंने हाल ही में भाजपा का दामन थामा है। हाल ही में नितीश ने महागठबंधन तोड़ भाजपा का दामन थाम लिया था और इसके बाद से ही लालू लगातार नितीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं।


गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान मोदी लहर सुर्खियों में थी और उसी लहर को काटने के लिए लालू ने अपने प्रतिद्वन्धी नितीश से गठबंधन का एलान किया था और साथ चुनाव लड़ा था। उस चुनाव में लालू और नितीश ने साथ मिलकर मोदी सरकार की धज्जिया उड़ाई थी और पीएम मोदी की खामिया गिनकर बिहार में सत्ता बनाई थी। हलाकि ये सत्ता अपना पूरा कार्यकाल समाप्त नहीं कर पाई और नितीश ने रातो-रात में गठबंधन तोड़ अगली सुबह भाजपा के साथ गठबंधन कर सीएम पद की शपथ ली थी। राजनीतिक गलियारों में इस बात पर हैरानी जताई गयी थी कि चुनाव प्रचार में नितीश ने जिस तरह भाजपा के प्रकोप से जनता को सावधान किया था आज उसी भाजपा के साथ गठबंधन कैसे कर लिया।

बता दें चारा घोटाले में लालू को रांची की सीबीआई कोर्ट ने साढ़े तीन साल की सज़ा और पांच लाख रुपये जुर्माने की सज़ा सुनाई है। इस मामले में अदालत ने फूल चंद, महेश प्रसाद, सुनील कुमार, बांकी जूलियस, सुधीर कुमार और राजा राम को भी साढ़े तीन साल और पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। पूर्व विधायक जगदीश शर्मा को अदालत ने सात साल की सजा और 20 लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।


 

Facebook Comments

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY