सऊदी अरबिया पर फिर अल्लाह की रहमत : “मिला एक बहुत बड़े तेल के जखीरे का खजाना, तकरीबन चार अरब 40 करोड़ बैरल”

0
622


सऊदी अरब दुनिया के सबसे अमीर देशों मैं अपनी जगह बहुत ही मजबूती से बनाए हुए हैं। देश के पास इतने नेचुरल रिसोर्सेज का भंडार है कि आज तक उन्हें देश की अर्थव्यवस्था तेल और प्राकृतिक गैसों पर आधारित है। सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने देश की अर्थव्यवस्था को तेल से कम करने के लिए देश में कई अन्य नई चीजें शुरू की हैं। जिन पर सालों तक से बैन लगा हुआ था। अब सऊदी अरब के लिए एक और बहुत बड़ी खबर सामने आ रही है।

बताया जा रहा है कि सऊदी अरब की जमीन में एक बहुत बड़े तेल के जखीरे का पता लगा है। सऊदी अरब की आयल कंपनी अरामको के पूर्व सलाहकार और अल सउद यूनिवर्सिटी में भू विज्ञान के प्रोफ़ेसर अब्दुल अजीज बिन लाबून ने बताया है कि सऊदी अरब के दक्षिण में बताह गुज़रगाह गांव के करीब वादी अलरमा और वादी अलशबा के बीच एक बड़ा तेल का जखीरा पाया गया है।

इस की मात्रा तकरीबन चार अरब 40 करोड़ बैरल तक की बताई जा रही है। आपको बता दें कि इस जगह पर सिर्फ तेल के ही भंडार नहीं बल्कि केस के भी कई भंडार होने का दावा किया जा रहा है।

गौरतलब है कि सऊदी अरब अगर इस जमीन से तेल निकाल लेता है तो पहले से भी ज्यादा ताकतवर हो सकता है। इंटरनेशनल मार्केट में बढ़ रही कच्चे तेल की कीमतों में भी भारी गिरावट आ सकती है और एशिया के कई देशों में पेट्रोल डीजल के दामों में कमी हो सकती है।

गौरतलब है कि बीते कुछ वक्त से अमेरिका द्वारा ओपेक देशों पर लगातार तेल का उत्पादन बढ़ाने का दबाव बनाया जा रहा है और सऊदी अरब ओपेक का प्रमुख सदस्य है। ऐसे में सऊदी अरब में तेल का इतना बड़ा भंडार मिलना दुनिया के लिए एक बड़ी खुशखबरी मानी जा रही है।

(साभार इंडिया दैनिक से)


Facebook Comments

NO COMMENTS