सीएम योगी और नितीश संग 11 मुख्यमंत्रियों के खिलाफ दर्ज हैं आपराधिक मामले

0
2

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, बिहार के सीएम नीतीश कुमार और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सहित देश के कुल 11 मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स और नेशनल इलेक्शन वॉच की ने सभी राज्यों और केंद्रशासि‍त प्रदेशों के कुल 31 मौजूदा मुख्यमंत्रियों के द्वारा चुनाव में दिए गए हलफनामे के आधार पर यह विश्लेषण किया है।

एडीआर की रिपोर्ट में बताया गया है, ‘कुल 31 मुख्यमंत्रियों में से 11 (35 फीसदी) ने यह खुलासा किया है कि उनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। यही नहीं, 26 फीसदी मुख्यमंत्रियों के ऊपर हत्या, हत्या के प्रयास, धोखाधड़ी, प्रॉपर्टी कब्जाने आदि से संबंधित गंभीर मुकदमे दर्ज हैं।

बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर हत्या (IPC की धारा 302), हत्या का प्रयास (307), दंगा भड़काने (147) आदि के लिए मामला दर्ज है। सबसे कम एक मुकदमा नीतीश कुमार के खिलाफ है।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें लोकसेवक के काम में बाधा डालने के चार मामले (332), लोकसेवक के आदेश की अवज्ञा करने (188) से जुड़े पांच मामले, गैरकानूनी तरीके से सभा करने के चार मामले और मानहानि (499) के चार मामले शामिल हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर धार्मिक स्थल को नुकसान पहुंचाने (295), दंगा भड़काने (147), कब्रिस्तान पर कब्जा करने (297) जैसे कुल चार मामले दर्ज हैं।

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस पर हमले के लिए उकसाने (134), जानलेवा हमला करने (324) आदि के मुकदमे दर्ज हैं। सबसे ज्यादा 22 मुकदमे फडणवीस के खिलाफ ही हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें प्रॉपर्टी से संबंधित धोखाधड़ी के दो मामले (धारा 420), कीमती प्रतिभूति, वसीयत की जालसाजी (धारा 467) के दो मामले, धोखा देने के लिहाज से फर्जीवाड़ा (468) के दो मामले और लोकसेवक, बैंकर आदि से विश्वासघात का एक मामला (409) दर्ज है।

इनके अलावा झारखंड के सीएम रघुबर दास, तेलंगाना के सीएम के. चंद्रशेखर राव, केरल के सीएम पी विजयन, जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती, पुदुच्चेरी के सीएम नारायण सामी और आंध्र प्रदेश के सीएम एन चंद्रबाबू नायडू के खिलाफ भी मामले दर्ज हैं।


Facebook Comments

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY