सुदर्शन न्यूज़ चैनल के मुख्य संपादक पर 11 से अधिक धाराओं पर केस : “अपराधी आज़ाद घूम रहा है, कृपया मुझे न्याय दिलवाइये” – पीड़िता

0
50

सुदर्शन न्यूज़ चैनल के मुख्य संपादक सुरेश चवन के के ऊपर 11 से अधिक धाराओं पर केस दर्ज है। आरोप है कि उसने अपने चैनल की एक 36 वर्षीय महिला कर्मचारी का बलात्कार और शोषण किया। पीड़िता ने हाल में ही नोएडा के पुलिस थाने में CRPC 164 के अन्तर्गत बयान और FIR दर्ज कराया था। सुरेश चावंके के साथ साथ बलात्कार के आरोप में जेल में बंद आसाराम बापू के बेटे नारायण साईं को भी अभियुक्त बनाया गया है।

पोलिटिकल फण्डा से बात करते पीड़िता शिकायतकर्ता ने बताया: “सबसे बड़ी दिक्कत मेरे साथ ये हो रही है कि 11 दिन हो गए FIR को, पुलिस ने अब तक दोषी को गिरफ्तार करना तो दूर, उसके खिलाफ कोई कार्यवाई नही की है जबकि वो खुलेआम घूम रहा है और चैनल पर शो कर रहा है। 164 के अंतर्गत उसकी गिरफ़्तारी 2 दिनों में हो जानी थी। इधर मेरी जान को खतरा है, मै घर से बाहर नही निकल पा रही।”

“मैं अब सोशल मीडिया की मदद चाहती हु जिस तरह वह ऐसा दिखावा कर रहा है जैसे की पोलिस उसका कुछ नही बिगाड़ सकती। सरकार जहाँ बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ आंदोलन की बात करती है वहां पुलिस की ऐसी बेरुखी कुछ और ही कहती है।” आगे पीड़िता ने बताया।

“मै अपील करना चाहती हूँ पुलिस से, DGP से और मुख्य मंत्री जी से की मामले की संगीनता को समझे और तुरंत कार्यवाही करे। अभी तक पुलिस ने कोई कार्यवाई नही की है। ये मै समझ नही पा रही की दोषी के ऊपर किसकी छत्र छाया है।”

इससे पहले उन्होंने पोलिटिकल फण्डा को लिखे ईमेल में बताया कि “मेरी FIR रजिस्टर हुए 11 दिन ही गये है। बलात्कारी अभी तक आजाद घूम रहा है। मुझे अपनी जान का खतरा है और घर से बाहर नही निकल पा रही हूँ। अपराधी आसाराम बापू के बेटे नारायण साईं और सुरेश चावंके जिसने मेरा जीवन बर्बाद कर दिया है। कृपया मेरी प्रार्थना सुने और इस बलात्कारी को जल्दी से जल्दी गिरफ्तार करे।”

महिला डरी हुई थी और दोषियों को किसी भी हालत में सलाखों के पीछे देखना चाहती थी। जब उनसे ये पुछा गया कि इतने सालों तक वो चुप क्यों रही तो उन्होंने कहा कि किसी भी मर्द या औरत अगर ये सब सहती है या सहता है तो उसके पीछे कुछ बात होती है, कुछ दिक्कतें होती है चाहे वो पारिवारिक दिक्कत हो या स्वयं की। उन्होंने कहा कि ये सब होते हुए भी उन्हें समझौता करना पड़ा।

पीड़िता कर्मचारी ने आरोप लगाया था कि चैनल मालिक के द्वारा उनका 5 सालों तक शारीरिक शोषण किया गया और यातनाएं दी गयी।

चावंके को IPC की धारा 406,420,376,313,504,506,307,294,511,354, और 509 के तहत आरोपी बनाया गया है। FIR की कॉपी पोलिटिकल फण्डा के पास सुरक्षित है।


Facebook Comments

NO COMMENTS